भा.कृ.अनु.प.- केंद्रीय कपास प्रौद्योगिकी अनुसंधान संस्थान में हिंदी दिवस / पखवाड़ा 2020 का आयोजन

संस्थान में दि. 14 सितंबर से 28 सितंबर, 2020 के दौरान हिंदी दिवस/ पखवाड़ा 2020  का आयोजन किया गया। कोविड 19 महामारी की परिस्थिति में सरकारी कार्यक्रम के आयोजन हेतु परिषद से प्राप्त दिशा-निर्देशांनुसार इस वर्ष हिंदी दिवस/ सप्‍ताह का आयोजन किया गया. दि.14 सितंबर, 2020 को डा. पी.जी. पाटील, निदेशक की अध्यक्षता में उदघाटन कार्यक्रम किया गया। उदघाटन भाषण में निदेशक महोदय ने कहा कि देश की सभी भाषायें महत्‍वपूर्ण है। हिन्‍दी सर्वसम्‍मत सहज और सरल भाषा है क्‍योंकि अधिकांश लोग हिन्‍दी को आसानी से बोल, लिख एवं समझ लेते है। उन्‍होंने हिन्‍दी दिवस के उपलक्ष में सभी कर्मचारियों को हार्दिक शुभेच्‍छा दी.

दि. 14 सितंबर, 2020 से 25 सितंबर 2020 तक निम्नलिखित प्रतियोगिताएं आयोजित की गई. प्रतियोगिताओं की संख्या मर्यादित रखने के साथ साथ आयोजन में सामाजिक दूरी-पालन के नियमों का पालन किया गया. हिंदी दिवस/ पखवाड़ा 2020 अंतर्गत आयोजित प्रतियोगिताओं में निम्न्लिखित कर्मचारियों ने पुरस्कार प्राप्त किये.

क्र प्रतियोगिता का नाम प्रथम पुरस्कार (रु. 2000/-) द्वितीय पुरस्कार (रु. 1500/-) तृतीय पुरस्कार (रु. 1100/-) प्रोत्साहन पर पुरस्कार (रु. 800/-)   
1 दि. 14. 9. 2020  निबंध लेखन (सभी वर्गों के लिये) विषय: कोरोना- एक वैश्विक विपदा पूजा तिवारी डॉ. मनोज महावर हिमानी सिंह अविनाश अमन
2   दि. 16. 9. 2020  शुध्द लेखन (केवल कुशल सहायक कर्मचारी वर्ग के लिये) गोरखा थापा दिगंबर गावडे सुदाम मगर डी.जी. गोळे
3 दि. 18. 9. 2020  तकनीकी वाक्यांश (सभी वर्गों के लिये) सी.एम.मोरे भारत पवार आनंद जाधव प्रशांत गव्हाले
4   दि. 21. 9. 2020  युनिकोड टंकण (सभी वर्गों के लिये) गोरखा थापा आनंद जाधव राम जक्कु विलास साबळे
5   दि. 24. 9. 2020  पोस्टर प्रदर्शनी  (सभी वर्गों के लिये) विषय: किसानो को आत्मनिर्भर बनाने में सिरकॉट प्रौद्योगिकियों  का योगदान आनंद जाधव डॉ.ए.के.भारीमल्ला डॉ. मनोज महावर    हेमंत लाडगावकर लक्ष्मी सिंह     हिमानी सिंह  डॉ. जी.टी.वी.प्रबु आर.के.जाधव डॉ. वी.जी. आरुडे डॉ.पी.एस. देशमुख

उत्कृष्ट हिंदी कार्यान्वयन हेतु दिये जानेवाली राजभाषा चल-वैजयंती शील्ड़ वर्ष 2019-20 के लिए प्रशासनिक अनुभागों में

प्रशासन एक (कार्मिक अनुभाग) तथा वैज्ञानिक अनुसंधान विभागों  में प्रौद्योगिकी हस्तांतरण विभाग को प्राप्त हुई है.   

सरकारी कामकाज में टिप्पणी/आलेखन मूलरुप से हिंदी में करने हेतु चलाई जा रही प्रोत्साहन योजना में सहभागिता

करनेवाले निम्नलिखित कर्मचारियों को वर्ष 2019-20 के लिए पुरस्कार प्रदान किये गये.   

नाम पुरस्कार राशि
श्री अविनाश अमन, अवर श्रेणी लिपिक                                                           प्रथम रु.5000/-
श्री सुधाकर चंदनशिवे, कु. स. कर्मचारी                                                    प्रथम रु.5000/-
श्री गोरखा ब. थापा, कु. स. कर्मचारी                                                       द्वितीय रु.3000/-
कु. हिमानी सिंह, सहायक                                                           द्वितीय रु.3000/-
श्रीमती वी.एन. वालझाडे, अवर श्रेणी लिपिक                                              द्वितीय रु.3000/-
श्री एस.एन. बांद्रे, प्रवर श्रेणी लिपिक                                                            तृतीय रु.2000/-
श्री वी.एम.साबले, प्रवर श्रेणी लिपिक                                                           तृतीय रु.2000/-
श्री साईनाथ सहाणे, अवर श्रेणी लिपिक                                                        तृतीय रु.2000/-
प्रदीप जाधव, सहायक                                                            तृतीय रु.2000/-
श्री महेश प्रभुलकर, कु. स. कर्मचारी                                                        तृतीय रु.2000/-

दि. 28 सितंबर, 2020 को डा. पी.जी. पाटील, निदेशक की अध्यक्षता में समापन समारोह हुआ. अपने अध्यक्षीय भाषण में निदेशक महोदय ने कहा कि हिन्‍दी का उपयोग अपने रोजमर्रा के कार्यों में करना हमारा दायित्‍व है। राजभाषा हिंदी कक्ष द्वारा राजभाषा कार्यान्‍वयन हेतु हो रही गतिविधियों की उन्हों ने सराहना की. कोविड संकट काल के अशांतिपूर्ण वातावरण के बावजुद कुल 25 कर्मचारी सदस्‍योंद्वारा प्रतियोगिताओं में सहभागिता करने पर संतोष जताया. पखवाड़ा आयोजन समिति के अध्यक्ष डॉ. वी.जी. अरुडे, वरीष्ठ वैज्ञानिक द्वारा विजेताओं को पुरस्‍कार घोषित किये गये. विजेताओं के वैयक्तिक प्रमाणपत्र एवं राशि पुरस्कार इ- रुप में कार्यक्रम उपरांत उन्हें प्रेषित किये गये. श्रीमती. प्राची म्हात्रे, व.तक.अधि. सदस्य- सचिव, हिंदी दिवस/पखवाड़ा आयोजन समिति की ओर से धन्यवाद प्रस्ताव के साथ कार्यक्रम संपन्न हुवा.